Sunday, 23 September 2018, 6:20 PM

धर्म कर्म

हरेला मेला: देवभूमि पर नजर आएगा एकजुटता का यह त्योहार

Updated on 16 July, 2018, 7:00
हरेला कुमाऊं का प्रमुख त्योहार है जिसे देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड में काफी धूम-धाम से मनाया जाता है। हरेला उत्तराखण्ड के परिवेश और खेती के साथ जुड़ा हुआ त्योहार है। इस त्योहार को सुख, समृद्धि, ऐश्वर्य का प्रतीक माना जाता है। इस दौरान कुमाऊं के तमाम इलाकों में हरेला... आगे पढ़े

चमत्कार या विज्ञान? क्या है शिरडी में दीवार पर उभरे साईं के चेहरे की सच्चाई

Updated on 15 July, 2018, 14:00
शिरडी में साईं बाबा के चमत्कार की कहानी तो हम दशकों से सुनते आए हैं लेकिन अबकी बार दीवार पर साईं की आकृति उभरने की खबर के बाद शिरडी साईं भक्तों से भर गया है. साईं के हजारों भक्त बुधवार रात से वहां अपने भगवान का आशीर्वाद ले रहे हैं.... आगे पढ़े

तो क्या इसलिए किया था ब्रह्मा ने अपनी ही पुत्री से विवाह

Updated on 15 July, 2018, 8:20
सरस्वती पुराण और मत्स्य पुराण में सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा का अपनी ही पुत्री से सरस्वती से विवाह करने का प्रंसग है जिसके परिणाम स्वरूप इस धरती पर मनु का जन्म हुआ। लेकिन ब्रह्मा ने एेसा काम क्यों किया इसके बारे में शायद ही किसी को पता होगा। पुराणों में... आगे पढ़े

अद्भुत बालक, जिसके जन्म की गाथा जान रह जाएंगे हैरान

Updated on 14 July, 2018, 8:20
एक बार दुर्वासा ऋषि कुंती के पास उसके महल में पधारे। तब कुंती ने पूरे एक वर्ष तक बहुत अच्छे तरीके से उनका अतिथि सत्कार किया था। उसकी सेवा से प्रसन्न होकर, दुर्वासा ने कुंती को वरदान दिया कि वो किसी भी देवता का स्मरण करके उनसे सन्तान उत्पन्न कर... आगे पढ़े

स्वस्थ हुए भगवान जगन्नाथजी, रथ से जाएंगे मौसी के घर, जानें रथयात्रा की जरूरी बातें

Updated on 14 July, 2018, 7:00
भगवान जगन्नाथ रथयात्र के लिए पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उनके कपाट फिर से भक्तों के लिए खोल दिए गए हैं। दरअसल मान्यता है कि ज्‍येष्‍ठ मास की पूर्णिमा से अमावस्‍या तक भगवान जगन्नाथजी बीमार रहते हैं और इन 15 दिनों में इनका उपचार शिशु की भांति चलता... आगे पढ़े

शिरडी में चमत्कार, दीवार पर उभरा साईं बाबा का चेहरा, क्या है सच

Updated on 13 July, 2018, 17:53
महाराष्ट्र के मशहूर शिरडी के साईं बाबा मंदिर में चमत्कार देखने लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है. भक्तों का दावा है कि द्वारका माई मंदिर की दीवार पर साईं बाबा का चेहरा उभर आया है. जिसे देखने देश भर से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं. महाराष्ट्र के मशहूर शिरडी के साईं बाबा... आगे पढ़े

अमरनाथ धाम में पहली बार दिखा कुछ ऐसा, लगे भोले बाबा के जयकारे

Updated on 13 July, 2018, 8:20
इस साल की अमरनाथ धाम यात्रा  चल रही है, जो सावन पूर्णिमा 26 अगस्त रक्षाबंधन के संपन्न होगी। इस साल अमरनाथ धाम के दर्शन-पूजन के पहले दिन 1 जुलाई को मंदिर के पुजारी जब आरती पूजन के लिए पहुंचे तो उन्होंने कुछ ऐसा देखा जिसे आज तक वह कभी नहीं... आगे पढ़े

लगने वाला है सूतक, भारत में रहनेवालों पर ग्रहण का प्रभाव जानें

Updated on 13 July, 2018, 6:40
साल का दूसरा सूर्य ग्रहण 13 जुलाई को लग रहा है। यह ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा इसलिए ग्रहण के नियम के अनुसार भारत में रहने वाले लोगों पर ग्रहण के सूतक का विचार नहीं होगा। भारत के लोगों को ग्रहण के दौरान किए जाने वाले नियमों के पालन की... आगे पढ़े

40 साल बाद सूर्य ग्रहण पर बनेगा ऐसा संयोग, जानें क्या है खास

Updated on 12 July, 2018, 21:00
शुक्रवार 13 जुलाई 2018 को साल का दूसरा सूर्य ग्रहण होगा। साथ ही इस दिन 40 साल बाद दोबारा एक खास संयोग बनने जा रहा है। नासा के मुताबिक इससे पहले 1974 में 13 दिसंबर, शुक्रवार के दिन यह संयोग बना था। दरअसल, इस हफ्ते होने वाला आंशिक सूर्य ग्रहण 13... आगे पढ़े

मठ और मंदिरों में नहीं, यहां है ईश्वर का निवास

Updated on 12 July, 2018, 8:20
एक नगर था। उसमें एक धनाढ्य परिवार रहता था। दादा-दादी, माता-पिता और उनका जवान बेटा। नित्य विधि-विधान से ईश्वर की पूजा करते, रविवार को हवन करके मंदिरों में दान-दक्षिणा देते। घर में सुख के सभी साधन थे, पर परिवार के उस इकलौते वारिस का मन सदा व्याकुल रहता। उस नगर... आगे पढ़े

विज्ञान या चमत्कारः महज एक रात में कैसे बने ये 7 भव्य मंदिर, रह जाएंगे दंग

Updated on 12 July, 2018, 7:00
घर और मंदिर बनाना एक दिन का काम नहीं होता। इन्हें बनाने में कई महीने और वर्ष लग जाते हैं। ऐसे में शायद यह किसी के लिए भी यकीन करना मुश्किल हो सकता है कि एक रात में ये 7 मंदिर कैसे बन गए। अब आप यकीन करें या ना... आगे पढ़े

अजब-गजब कहानियांः पूर्वजन्म में भी रावण था देवी सीता पर मोहित

Updated on 11 July, 2018, 8:20
महान ज्ञानी और योद्धा लंकापति रावण के सिर्फ एक दुर्गण की वजह से उन्हें काल का ग्रास बनना पड़ा था। क्या आप जानते हैं माता सीता पर बुरी नजर रखनेवाले रावण की कुदृष्टि उन पर पूर्वजन्म में भी पड़ी थी जिस कारण देवी सीता ने रावण को उस जन्म में... आगे पढ़े

14 जुलाई को रथयात्रा से पहले बीमार हुए भगवान जगन्नाथ, चल रहा इलाज

Updated on 11 July, 2018, 7:00
प्रभु के प्रति अटूट प्रेम और विश्‍वास का इससे बेहतरीन उदाहरण कहां मिलेगा कि भक्‍त अपने प्रभु को बीमार मानकर ए‍क नन्‍हे शिशु की भांति उनकी सेवा करते हैं। उन्‍हें देसी वस्‍तुओं से बना काढ़ा पिलाया जाता है। इस वक्‍त उन्‍हें चटपटी चीजें नहीं बल्कि केवल मौसमी फल और परवल... आगे पढ़े

चंद्र ग्रहण वाले दिन मंगल और चंद्रमा बनाएंगे सबसे दुर्लभ नजारा

Updated on 10 July, 2018, 13:30
लंदन इस महीने की 27 तारीख को इस सदी का सबसे बड़ा चंद्र ग्रहण दिखेगा। वैज्ञानिकों ने इसे 'ब्लड मून' नाम दिया है। यह चंद्र ग्रहण करीबन 1 घंटा 43 मिनट रहेगा। लेकिन वैज्ञानिकों ने इसी दिन एक और दुर्लभ नजारा दिखने की बात कही है। खगोलविदों के अनुसार यह... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण और द्रौपदी में था ये Connection

Updated on 10 July, 2018, 8:20
महाराज द्रुपद ने द्रोणाचार्य से अपने अपमान का बदला लेने के लिए संतान प्राप्ति के उद्देश्य से यज्ञ किया। यज्ञ की पूर्णाहूति के समय यज्ञकुंड से मुकुट, कुंडल, कवच तथा धनुष धारण किए हुए एक कुमार प्रकट हुआ।  इस कुमार का नाम धृष्टद्युम्र रखा गया। महाभारत के युद्ध में पांडव... आगे पढ़े

भगवान राम के स्‍पर्श से बदसूरत गिलहरी हो गई सुंदर

Updated on 10 July, 2018, 7:00
बहुत पहले की बात है – तब गिलहरी काली और बदसूरत हुआ करती थी। लोग भी उसे पसंद नहीं करते थे। वह घरों में पहुंच जाती तो लोग उसे भगाने लगते। निराश गिलहरी गांव में एक साधु बाबा के पास रहने लगी। जो बाबा खाते, वह गिलहरी खाती। उनके यज्ञ... आगे पढ़े

जानें, किसे और क्यों मिली इंद्र की गलती की सज़ा

Updated on 9 July, 2018, 9:00
सूर्यवंश के सम्राट सगर की दो रानियां थी, लेकिन उन्हें कोई संतान नहीं थी। एक दिन उनके कुल गुरु वशिष्ठ ने उनसे उदास रहने का कारण पूछा, वे बोले- गुरुदेव इतने बड़े साम्राज्य का कोई भी उत्तराधिकारी पैदा नहीं हुआ है। मेरी उम्र भी बढ़ती जा रही है। ऐसे ही... आगे पढ़े

मानो या न मानो: पसीने की बूंदों से खिले सुंदर फूल

Updated on 8 July, 2018, 9:00
वनवास के दौरान श्रीराम कुटिया में बैठे थे कि उनका शबरी से मिलने का मन हुआ। मन की बात मानते हुए वह शबरी के पास पहुंचे तो देखा कि वहां चारों ओर फूल ही फूल खिले थे, जिनकी खुशबू से सारा वन महक रहा था। हर फूल से भीनी-भीनी सुगंध... आगे पढ़े

हजार हों या लाखों, कभी कम नहीं पड़ता जगन्नाथजी का प्रसाद, क्या है रहस्य?

Updated on 8 July, 2018, 7:00
जगन्नाथ मंदिर में भगवान के दर्शन हर वर्ग व धर्म के लोगों को सुलभ हो सके, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट में एक दायर याचिका पर सुनवाई चल रही है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा मंदिर प्रबंधन से इस विषय पर विचार करने के लिए कहा गया है। देश से धनवान मंदिरों में... आगे पढ़े

सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, जानें- किन राशियों को दिलाएगा लाभ

Updated on 7 July, 2018, 11:10
21वीं सदी का सबसे लंबा खग्रास चंद्रग्रहण जुलाई में होने वाला है. यह एक महत्वपूर्ण खगोलीय घटना है. 27 जुलाई 2018 का चंद्रग्रहण 21वीं सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण रहने वाला है. इसकी कुल अवधि 6 घंटा 14 मिनट रहेगी. इसमें पूर्णचंद्र ग्रहण की स्थिति 103 मिनट तक रहेगी.  भारत में... आगे पढ़े

सोने की मूर्ति से निकली दुर्गंध, भागने लगे राजा

Updated on 7 July, 2018, 9:00
राजकुमारी मल्लिनाथ जैनों की उन्नीसवीं तीर्थंकर मानी जाती हैं। सुंदर होने के साथ वह विदुषी भी थीं। उनके सौंदर्य पर मुग्ध होकर उनसे विवाह के लिए राजकुमारों के प्रस्ताव आने लगे, किंतु उनके पिता मिथिलानरेश कुंभा ने उन प्रस्तावों को अस्वीकार कर दिया। इससे वे राजकुमार नाराज हो गए और... आगे पढ़े

इस गुफा में विराजित है माता सती का 13वां शक्तिपीठ

Updated on 7 July, 2018, 7:00
भगवान शिव का पवित्र धाम है अमरनाथ गुफा। यहां हर साल बर्फ के स्‍वयंभू शिवलिंग का निर्माण होता है, जिसके लिए यह गुफा दुनियाभर में विख्‍यात है। मगर क्‍या आप जानते हैं कि इस पवित्र गुफा में एक महामाया शक्तिपीठ भी है। यह शक्तिपीठ मां दुर्गा के 51 शक्तिपीठों में... आगे पढ़े

चाहकर भी बेटे को अर्जुन से महान नहीं बना पाए द्रोणाचार्य क्योंकि

Updated on 6 July, 2018, 9:00
किसी भी कार्य को करने के लिए सर्वप्रथम उसे सीखना और उसके बाद अभ्यास करना जरूरी होता है। कोई भी विद्या सीख तो ली, लेकिन उसका अभ्यास नहीं किया तो सफलता प्राप्त नहीं होती। रसोई बनाना हो या फिर गाड़ी या हवाई जहाज चलाना, तबला और हारमोनियम बजाना हो या... आगे पढ़े

भक्‍त 5 दिन नहीं कर पाएंगे तिरुपति बालाजी के दर्शन!

Updated on 6 July, 2018, 7:00
अगस्त के महीने में 5 दिनों तक तिरुपति बालाजी के दर्शन भक्तों के लिए बंद हो सकते हैं। इसका कारण एक धार्मिक अनुष्ठान बताया जा रहा है। यह एक वैदिक रिवाज है, जिसे हर 12 साल बाद अघमास में मनाया जाता है। इसे अस्ताबंधना बाललया महासंपरोकषनाम से जाना जाता है।... आगे पढ़े

ऋषिकेश में इन जगहों पर नहीं गए तो समझे लें कुछ नहीं देखा

Updated on 5 July, 2018, 9:00
ऋषिकेश के बारे में कहा जाता है कि जो यहां पर घूमने के लिए आता है…समझ लो उसने पूरा विश्व देख लिया। यहां पर विश्व की जो भी प्रकृति से जुड़ी चीजें हैं, वो यहां होती हैं। ऋषिकेश में हर तरह के टूरिस्ट्स के लिए कुछ न कुछ जरूर मौजूद... आगे पढ़े

2018 कैलास मानसरोवर यात्रा: इस तरह होती है यह यात्रा, दिखता है ऐसा नजारा

Updated on 5 July, 2018, 7:00
हमारे पुराणों और ग्रंथों में ‘कैलास पर्वत’ को भगवान शंकर और मां पार्वती का निवास स्‍थान बताया गया है। धर्म ग्रंथों के अनुसार शिवजी अपने सभी गणों के साथ इस अलौकिक स्थान पर रहते हैं। शिवपुराण के अनुसार, कैलास धन के देवता और देवताओं के कोषाध्यक्ष कुबेर की तपस्थली है।... आगे पढ़े

साल का दूसरा सूर्यग्रहण 13 को, 2.25 घंटे तक रहेगा असर

Updated on 4 July, 2018, 17:45
बिलासपुर। 13 जुलाई को साल का दूसरा सूर्यग्रहण होगा। यह पुनर्वसु नक्षत्र व हर्षण योग में पड़ेगा जो सुबह सात बजकर 19 बजे से शुरू होकर नौ बजकर 44 मिनट में समाप्त होगा। 13 जुलाई शुक्रवार अषाढ़ कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को मिथुन राशि और पुनर्वसु नक्षत्र व हर्षण... आगे पढ़े

क्या आज भी जीवित हैं अमरनाथ गुफा में ये दो कबूतर

Updated on 4 July, 2018, 9:00
कश्मीर घाटी में स्थित श्री अमरनाथ जी की पवित्र गुफा में प्रतिवर्ष बर्फ से बनने वाले प्राकृतिक हिमशिवलिंग की पूजा की जाती है। श्री अमरनाथ की पवित्र गुफा में भगवान शंकर ने शिव धाम की प्राप्ति करवाने वाली परम पवित्र ‘अमर कथा’ भगवती पार्वती को सुनाई थी। यहां विस्तार में... आगे पढ़े

अजब-गजबः आंसुओं और मूत्र से बनी नदियों की हैरान करने वाली कहानियां

Updated on 4 July, 2018, 7:00
गंगा नदी के बारे में पुराणों में कथा है कि इनका आगमन पृथ्वी पर स्वर्ग से हुआ है। यमुना और सरस्वती नदी के बारे में भी कथा है कि एक शाप की वजह से इनको नदी बनकर देवलोक से पृथ्वी पर आना पड़ा। लेकिन कुछ नदियों और झीलों की कहानी... आगे पढ़े

कौन था ये चोर, जिसकी पत्नी ने दिखाया उसे स्वर्ग का रास्ता

Updated on 3 July, 2018, 7:00
कांचीपुर नामक गांव में वज्र नाम का एक चोर रहता था। वह हर किसी का जितना भी सामान मिलता चुरा लेता था। उसे बिल्कुल भी दया नहीं आती थी की जिसका भी वो सामान है उसको कितना दुख होगा। वह चुराए हुए धन को राज्य के सिपाहियों के डर से... आगे पढ़े