Sunday, 17 November 2019, 9:03 AM

धर्म कर्म

अयोध्‍या से श्रीलंका तक दर्शन कराएगी रामायण एक्सप्रेस ट्रेन, ये है रूट

Updated on 21 August, 2019, 17:45
भारतीय रेलवे एक बार फिर श्री रामायण एक्सप्रेस ट्रेन (Shri Ramayan Express Train) चलाने जा रहा है. यह ट्रेन 3 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन (Safdarganj Station) से रवाना होकर 16 दिनों में भारत और श्रीलंका (Srilanka) की यात्रा पूरी करेगी और भगवान राम से जुड़ी जगहों पर श्रद्धालुओं... आगे पढ़े

भगवान श्री कृष्ण के 108 नाम : जन्माष्टमी पर पढ़ना न भूलें, कान्हा देंगे खुशियों का वरदान

Updated on 21 August, 2019, 6:15
सौभाग्य, ऐश्वर्य, यश, कीर्ति, पराक्रम और अपार वैभव के लिए भगवान श्रीकृष्ण के नामों का जाप किया जाता है। 108 नाम यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं।   पढ़ें भगवान श्रीकृष्ण के 108 नाम और उनके अर्थ... और पाएं हर तरह की समृद्धि....    1. अचला : भगवान। 2. अच्युत : अचूक प्रभु या... आगे पढ़े

Janmashtami 2019: जानें जन्माष्टमी की सही डेट, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

Updated on 20 August, 2019, 16:54
कृष्ण, गिरिधर, मुरलीधर, श्याम, मोहन, मधुसूदन, यशोदानंदन, देवकीनंदन, गोपाल, चक्रधारी, मुरारी, बनवारी, योगीश्वर ये सारे नाम भक्तों ने अपने प्रभु कन्हैया को दिए हैं। जिस रूप में प्रभु ने भक्तों की रक्षा की, भक्तों ने उन्हें उसी नाम से याद करना शुरू कर दिया। मान्यता है कि कान्हा की पूजा... आगे पढ़े

Janmashtami 2019: सब विकार हर लेते हैं श्रीकृष्ण

Updated on 20 August, 2019, 16:48
सूफी भक्त बुल्ले शाह भी ठगे से रह गए। अपनी बुक्कल में कस कर सीने से लगा रखा था, कब फिसल कर भाग गया, पता ही नहीं चला। किसी से कह न पाए, फिर भी दुनिया भर में शोर मच गया- मेरी बुक्क्ल दे विच चोर नी, किसनू कूक सुणावां,... आगे पढ़े

जन्माष्टमी 2019 : श्री कृष्ण को प्रिय हैं ये 6 मंत्र, पढ़ें हिन्दी अर्थ

Updated on 20 August, 2019, 7:00
श्री कृष्ण जन्माष्टमी के पावन मंत्र   श्री कृष्ण पूजन का हर शास्त्र में विशेष महत्व बताया गया है। आइए 6 विशेष  जन्माष्टमी मंत्रों के माध्यम से जानें कि क्या लाभ मिलता है श्रीकृष्ण का ध्यान लगाने से, उनके पूजन से, उनकी आराधना से...   श्री शुकदेवजी राजा परीक्षित्‌ से कहते हैं-   1. सकृन्मनः कृष्णापदारविन्दयोर्निवेशितं तद्गुणरागि... आगे पढ़े

श्री चंद्रशेखरेंद्र सरस्वती स्वामिगल

Updated on 16 August, 2019, 6:00
चंद्रशेखरेंद्र सरस्वती स्वामिगल (1894–1994), जिन्हें कांची या महापरियावा के ऋषि के रूप में भी जाना जाता है, कांची कामकोटि पीठम के 68वें जगद्गुरु थे। जीवन : महापरियावा का जन्म और पालन-पोषण दक्षिण अर्कोट जिले के विल्लुपुरम में हुआ था। उनका जन्म नाम स्वामीनाथन था। उनका परिवार स्मार्त ब्राह्मण संप्रदाय से संबंधित... आगे पढ़े

यंत्र से मिलता है जीवन की समस्याओं का समाधान 

Updated on 15 August, 2019, 6:45
हिन्दू धर्म के अनेक ग्रंथों में कई तरह के चक्रों और यंत्रों के बारे में विस्तार से उल्लेख किया गया है। जिनमें राम शलाका प्रश्नावली, हनुमान प्रश्नावली चक्र, नवदुर्गा प्रश्नावली चक्र, श्रीगणेश प्रश्नावली चक्र आदि प्रमुख हैं। कहते हैं इन चक्रों और यंत्रों की सहायता से लोग अपने मन में... आगे पढ़े

इस कारण मंदिर के प्रवेश स्थान पर लगाई जाती है घंटी 

Updated on 15 August, 2019, 6:00
कहते हैं, पूजा करते वक्त घंटी जरूर बजानी चाहिए। ऐसा मानना है कि इससे ईश्वर जागते हैं और आपकी प्रार्थना सुनते हैं। लेकिन हम आपको यहां बता रहे हैं कि घंटी बजाने का सिर्फ भगवान से ही कनेक्शन नहीं है, बल्क‍ि इसका वैज्ञानिक असर भी होता है। यही वजह है... आगे पढ़े

अयोध्या में राम मंदिर होने के सबूत

Updated on 14 August, 2019, 7:00
अयोध्या भगवान श्रीराम की जन्मभूमि है। यहां महल, मंदिर और तमाम तरह के आश्रम बने हुए थे। लेकिन गुलामी के काल में यह सभी तोड़ दिए गए। कहा गया कि लुटेरे बाबर के काल में राम मंदिर तोड़कर वहां पर बाबरी मस्जिद बना दी गई थी। तभी से यह मुद्दा... आगे पढ़े

तिरुपति बालाजी मंदिर में भक्तों का तांता, एक दिन में आया 3 करोड़ से ज्यादा का चढ़ावा

Updated on 13 August, 2019, 10:20
नई दिल्ली/तिरुमाला: तिरुमाला पर्वत पर स्थित भगवान तिरुपति बालाजी के मंदिर की महत्ता कौन नहीं जानता. हर साल करोड़ों लोग इस मंदिर के दर्शन के लिए आते हैं. ऐसा माना जाता है कि यह स्थान भारत के सबसे अधिक तीर्थयात्रियों के आकर्षण का केंद्र है. तिरुपति बालाजी मंदिर दुनिया के... आगे पढ़े

राम के जुड़वां पुत्र लव और कुश का भारत में कहां-कहां राज्य था?

Updated on 13 August, 2019, 6:45
लव और कुश राम तथा सीता के जुड़वां बेटे थे। कहते हैं कि जब राम ने वानप्रस्थ लेने का निश्चय कर भरत का राज्याभिषेक करना चाहा तो भरत नहीं माने। अत: दक्षिण कोसल प्रदेश (छत्तीसगढ़) में कुश और उत्तर कोसल में लव का अभिषेक किया गया। हालांकि यह अभी भी... आगे पढ़े

राम के पुत्र लव और कुश की वंशावली

Updated on 13 August, 2019, 6:30
राम के दो जुड़वा पुत्र लव और कुश थे। दोनों का ही वंश आगे चला। वर्तमान में दोनों के ही वंश के लोग बहुतायत में पाए जाते हैं। आओ जानते हैं कि कौन है लव और कुश के कुल के लोग जो भारत में आज भी निवास करते हैं। - ब्रह्मा... आगे पढ़े

बस यादों में रह गये है सावन के झूले 

Updated on 12 August, 2019, 6:30
सावन के झूलों ने मुझको बुलाया मैं परदेसी घर वापस आया। ऐसे गाने सावन आते ही लोगों की जुबान पर खुद-ब-खुद आ जाते हैं। एक दौर था जब लोगों को सावन के महीने का बेसब्री से इंतजार रहता था। सावन शुरू होते ही गांव की गलियों से लेकर शहरों तक... आगे पढ़े

 श्रावण सोमवार का महत्व 

Updated on 12 August, 2019, 6:15
हिन्दू धर्म के अनुसार श्रावण मास सर्वश्रे… मास माना गया है, क्योंकि यह मास भगवान शंकर का अतिप्रिय मास है, इस मास में जाप, अनु…ान, रूद्राभिषेक पूजन और भिन्न-भिन्न रूपों में भगवान शंकर की महिमा का गुणगान किया जाता है, श्रावण मास में सोमवार का विशेष महत्व होता है, श्रावण... आगे पढ़े

विभिन्न संप्रदायों में त्रिमूर्ति का रहस्य

Updated on 11 August, 2019, 6:30
हिन्दू धर्म में त्रिमूर्ति अर्थात मुख्य 3 देवता हैं, जो सृजन, संरक्षण और विनाश का मुख्य कार्य करते हैं। इसमें ब्रह्मा को सृष्टि का निर्माता, विष्णु को रक्षक या पालनहार और शिव को संहारक या विनाश का देवता कहा जाता है। दत्तात्रेय अवतार त्रिमूर्ति का अवतार है। त्रिमूर्ति की अवधारणा... आगे पढ़े

सबसे पहले बहन ने राखी बांधी थी या किसी और ने?

Updated on 11 August, 2019, 6:15
रक्षा बंधन के संबंध में कई सवाल है, पहला यह कि पहले रक्षा बंधन या राखी के त्योहार को क्या कहते थे? अधिकतर लोग कहेंगे कि रक्षा सूत्र। दूसरा सवाल यह कि सबसे पहले राखी किसने किसको बांधी थी? मतलब यह कि बहन ने भाई को बांधी थी या कि... आगे पढ़े

दो अमेरिकी श्रद्धालुओं ने भगवान वेंकटेश्वर मंदिर को दान किए 14 करोड़ रुपए

Updated on 10 August, 2019, 6:45
तिरुपति (आंध्रप्रदेश)। अमेरिका में रहने वाले 2 भारतीय उद्यमियों ने तिरुमला के निकट स्थित प्रसिद्ध भगवान वेंकटेश्वर मंदिर को 14 करोड़ रुपए दान किए हैं। मंदिर के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि दानकर्ताओं ने नाम जाहिर न करने का आग्रह करते हुए देवी श्री वरलक्ष्मी व्रतम... आगे पढ़े

इस प्रकार होता है दैवीय गुणों का विकास 

Updated on 8 August, 2019, 7:00
दैवीय गुणों का विकास करने के लिए आध्यात्मिक जीवन के अभ्यासी बनें क्योंकि इस जीवनशैली में स्वाभाविक रूप से जीवन की सिद्धि, सफलताएं, समाधान और कल्याण के सूत्र मौजूद हैं। इसमें क्षमाशीलताएं, विनय और परमार्थ जैसे अनेक सद‌्गुणों का स्थायी वास रहता है। जन्म, जरा और मृत्यु भौतिक शरीर को... आगे पढ़े

भगवान की ऐसी प्रतिमाएं न रखें 

Updated on 8 August, 2019, 6:45
हिंदू धर्म के ज्यादातर घरों में भगवान का मंदिर या फिर मूर्तियां होती हैं, जिनके हर रोज दर्शन और पूजा करते हैं। हम पूजा इस आस्था से करते हैं कि इनका शुभ प्रभाव घर पर पड़े, क्योंकि भगवान के दर्शन मात्र से ही मन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता... आगे पढ़े

इसलिए भोलेनाथ के लिए खास है सोमवार 

Updated on 8 August, 2019, 6:30
सोमवार का द‍िन भगवान श‍िव की पूजा के लि‍ए खास माना जाता है। कहते हैं क‍ि इस द‍िन श‍िव जी बहुत जल्‍द खुश होते हैं।  हिंदू शास्‍त्रों में सोमवार का द‍िन मुख्‍य रूप से भगवान श‍िव जी का द‍िन माना जाता है। मान्‍यता है क‍ि शंकर जी शांत, सौम्‍य और भोले... आगे पढ़े

सावन सोमवार के दिन प्रदोष व्रत से होंगी मनोकामनाएं पूरीं 

Updated on 8 August, 2019, 6:15
प्रदोष व्रत में भगवान शिव की उपासना की जाती है। यह व्रत हिंदू धर्म के सबसे शुभ व महत्वपूर्ण व्रतों में से एक है। माना जाता है कि प्रदोष के दिन भगवान शिव की पूजा करने से व्यक्ति के पाप धूल जाते हैं और उसे मोक्ष प्राप्त होता है। इस... आगे पढ़े

जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ

Updated on 7 August, 2019, 6:45
जल आदि साजि सब द्रव्य लिया। कन थार धार नुत नृत्य किया। सुख दाय पाय यह सेवल हौं। प्रभु पार्श्व सार्श्वगुणा बेवत हौं। भगवान पार्श्वनाथ जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर हैं। उनकी मूर्ति के दर्शन मात्र से ही जीवन में शांति का अहसास होता है। पार्श्वनाथ वास्तव में ऐतिहासिक व्यक्ति थे। उनसे... आगे पढ़े

उत्तर भारत के 15 मुख्य मंदिर

Updated on 7 August, 2019, 6:30
उत्तर भारत के महत्वपूर्ण 15 हिन्दू मंदिरों के संबंध में संक्षिप्त जानकारी। 1.बैजनाथ मंदिर : यह भगवान शिव को समर्पित एक प्रसिद्ध मंदिर है। प्राचीन इतिहास के अनुसार बैजनाथ मंदिर में स्थापित शिवलिंग रावण द्वारा लाया गया था। रावण ने जब भगवान शिव की पूजा की तो शिवजी उन पर प्रसन्न... आगे पढ़े

आपको भी पता होनी चाहिए रक्षाबंधन की ये 11 खास पारंपरिक बातें

Updated on 7 August, 2019, 6:15
भाई-बहन का पवित्र पर्व रक्षा बंधन मंगलमयी हो और इस पर्व को मनाते समय कोई भूल-चूक न हो, इसके लिए हमें कुछ पारंपरिक बातों का ध्यान रखना चाहिए। अगर राखी बांधते समय आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो निश्चित ही यह आपके लिए और आपके भाई के लिए बहुत फलदायी... आगे पढ़े

श्रावण मास का मंगलवार : आज अपनी राशिनुसार करें भगवान शिव का अभिषेक, मिलेगा अत्यंत शुभ फल

Updated on 6 August, 2019, 6:30
श्रावण में जिस तरह सोमवार का विशेष महत्व है उसी तरह मंगलवार को भी शुभ माना गया है। श्रावण मास में आने वाले सभी मंगलवार के दिन मंगला गौरी व्रत भी किया जाता है। इसे मंगळागौरी, मंगळागौर भी कहा जाता है। मंगलवार को राशि अनुसार ऐसे करें भगवान शिव का... आगे पढ़े

कल्कि अवतार होने वाला है या कि हो चुका, जानिए रहस्य

Updated on 6 August, 2019, 6:15
पुराणों में कल्कि अवतार के कलियुग के अंतिम चरण में आने की भविष्यवाणी की गई है। अभी कलियुग का प्रथम चरण ही चल रहा है लेकिन अभी से ही कल्कि अवतार के नाम पर पूजा-पाठ और कर्मकांड शुरू हो चुके हैं। कुछ संगठनों का दावा है कि कल्कि अवतार के... आगे पढ़े

Friendship day 2019 : एस्ट्रोलॉजी से जानिए किन राशियों के लोग होते हैं आपके बेस्ट फ्रेंड, (पढ़ें अपनी राशि)

Updated on 4 August, 2019, 6:45
x4 अगस्त 2019, रविवार को फ्रेंडशिप डे है। यह दिन हम सभी के लिए बहुत महत्व रखता है। कई बार अचानक हुई जान-पहचान जीवनभर की दोस्ती में बदल जाती है, तो कभी दोस्ती होते हुए भी मन नहीं जुड़ पाते। गहरी दोस्ती या फिर दुश्मनी के लिए आपकी राशि और लग्न... आगे पढ़े

रविवार को दूर्वा गणपति व्रत : भगवान श्री गणेश को दूर्वा चढ़ाने से दूर होंगे सारे कष्ट, पढ़ें ये मंत

Updated on 4 August, 2019, 6:30
4 अगस्त 2019, रविवार को श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है। इस दिन भगवान श्री गणेश को दूर्वा की 21 गांठ चढ़ाने की परंपरा है। इसे विनायकी चतुर्थी और दूर्वा गणपति व्रत कहते हैं। विघ्नहर्ता भगवान श्री गणेश जी की आराधना बहुत मंगलकारी मानी जाती है। उनके भक्त... आगे पढ़े

अंगूठा बता देता है आपके अंदर का राज  

Updated on 2 August, 2019, 6:45
सभी को भविष्य में क्या छिपा है यह राज जानने की जिज्ञासा होती है। जन्मकुंडली के साथ ही हाथ की रेखाएं देखकर भी भविष्य के राज जाने जा सकते हैं। हस्तरेखा विज्ञान में अंगूठे को चरित्र का आइना कहा जाता है। आप इसे देखकर व्यक्ति के बारे में कई गुप्त... आगे पढ़े

इस प्रकार घर में रहेगी खुशहाली

Updated on 2 August, 2019, 6:15
सभी लोग सुख और खुशहाली से रहना चाहते हैं और इसके लिए धन सबसे अहम होता है। धन के बिना किसी प्रकार के कामकाज नहीं हो सकते। कई बार धन की कमी के पीछे कुछ ऐसे कारण होते हैं जिन्हें हम ज्योतिष उपायों से ठीक कर सकते हैं।  इसका कारण... आगे पढ़े