Saturday, 17 November 2018, 5:37 AM

धर्म कर्म

जब महादेव ने स्वयं दिया मनुपुत्र को ज्ञान

Updated on 16 November, 2018, 6:20
पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मनुपुत्र नभग का पुत्र था नाभाग। कई वर्ष बाद जब वह अपने ब्रह्मचर्य जीवन का पालन करके लौटा तब उसके बड़े भाईयों ने उसे उसके हिस्से में केवल पिता को दिया। क्योंकि सम्पत्ति तो उन्होंने पहले ही आपस में बांट ली थी। उसने अपने पिता से... आगे पढ़े

क्यों श्रीहरि ने माता लक्ष्मी को दिया श्राप?

Updated on 15 November, 2018, 6:15
हिंदू धर्म के धार्मिक ग्रंथों में भगवान विष्णु और लक्ष्मी से जुड़ी हुई बहुत सी कथाएं प्रचलित हैं। उन्हीं में से एक के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं। इस कथा का संबंध दिवाली से पहले आने वाले पर्व धनतेरस से जुड़ा हुआ है। इस पौराणिक कथा... आगे पढ़े

गायत्री मंत्र का प्राण है यह शब्द, अध्यात्म से भर देगा इसका अर्थ और महत्व

Updated on 14 November, 2018, 7:20
गायत्री मंत्र में सविता शब्द बहुत महत्वपूर्ण अर्थ रखता है। यही इस मंत्र का प्राण है। पूरे गायत्री में सविता ही अधिष्ठान है। शब्द की दृष्टि से भी सविता बहुआयामी अर्थ का द्योतक है। सविता केवल प्रकाशवान ही नहीं है, अपितु सृष्टा, पोषक, रक्षक व दाता है। गायत्री महाविद्या के... आगे पढ़े

कोई भी फैसला लेने से पहले ज़रूर करें ये काम

Updated on 14 November, 2018, 6:20
एक समय की बात है। एक संत प्रात:काल भ्रमण के लिए समुद्र के तट पर पहुंचे। समुद्र के तट पर उन्होंने एक पुरुष को देखा जो एक स्त्री की गोद में सिर रख कर सोया हुआ था। पास में शराब की खाली बोतल पड़ी हुई थी। संत बहुत दुखी हुए।... आगे पढ़े

द्रौपदी ने पांच पतियों के साथ कैसे निभाया पत्नी धर्म

Updated on 13 November, 2018, 6:40
ये तो सभी जानते हैं कि हिंदू धर्म के अनुसार एक पत्नी का 1 से ज्यादा पति होना गलत है लेकिन फिर भी ये प्राचीन काल में संभव हुआ। जो लोगों को हैरत में डालने के लिए काफी था। महाभारत की द्रौपदी किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। द्रौपदी का... आगे पढ़े

शिव पुराण को पढ़ते और सुनते समय न करें ये गलतियां

Updated on 12 November, 2018, 6:15
ज्योतिष के अनुसार सोमवार के दिन भगवान शंकर की पूजा का विधान रहता है। इस दिन लोग भोलेनाथ के खुश करने के लिए इनका व्रत-पूजन करते हैं। लेकिन कई बार कुछ लोगों से इनके पूजन आदि में एेसी कई तरह की गलतियां कर बैठते हैं, जिस कारण उन्हें कई बार शुभ... आगे पढ़े

भाई दूज के दिन मनाई जाती है यमद्वितिया, जाने क्यों होती भगवान चित्रगुप्त की पूजा

Updated on 9 November, 2018, 10:45
नई दिल्ली: दिवाली पांच दिन का त्योहार धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज के दिन खत्म होता है. पांच दिन के त्योहार पर भाईदूज आखिरी दिन मनाया जाता है. आज (09 नवम्बर) देशभर में ये त्योहार मनाया जा रहा है. इस तिथि से यमराज और द्वितीया तिथि का सम्बन्ध होने... आगे पढ़े

 सर्वव्यापी न्यायकारी ईश्वर 

Updated on 9 November, 2018, 7:20
ईश्वर सर्वव्यापी है इस लिए उसका दंड एवं उपहार दोनों असाधारण हैं। अतएव आस्तिक को सदा ध्यान रहेगा कि दंड से बचा जाए और ईश्वर का उपहार प्राप्त किया जाए। यह प्रयोजन छुटपुट पूजा-अर्चना, जप-ध्यान से पूरा नहीं हो सकता। यह भावनाओं और क्रियाओं को उत्कृष्टता के सांचे में ढालने... आगे पढ़े

धनतेरस 2018: धन के देव कुबेर आएंगे आपके घर, इस मंत्र के साथ करें पूजा

Updated on 5 November, 2018, 10:45
नई दिल्ली: देशभर में आज धनतेरस का त्योहार मनाया जा रहा है. दीपावली के दो दिन पहले आने वाले इस त्योहार को लोग काफी धूमधाम से मनाते हैं. इस दिन गहनों और बर्तनों की खरीदारी जरूर की जाती है. धनत्रयोदशी के दिन भगवान धनवंतरी का जन्म हुआ था और इसलिए... आगे पढ़े

 धन्वन्तरि जयन्ती के रूप में भी मनाया जाता है धनतेरस

Updated on 5 November, 2018, 6:20
हमारे देश में सर्वाधिक धूमधाम से मनाए जाने वाले त्योहार दीपावली का प्रारम्भ धनतेरस से हो जाता है। धनतेरस छोटी दीवाली से एक दिन पहले मनाया जाता है। धनतेरस पूजा को धनत्रयोदशी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन कोई भी समान लेना बहुत ही शुभ माना जाता... आगे पढ़े

अमावस्या की अर्धरात्रि में मां काली की पूजा से मिलेगी समृद्धि

Updated on 4 November, 2018, 14:00
कार्तिक अमावस्या की अर्ध्यरात्रि में महानिशीथ काल में राजधानी के दो प्रमुख बड़े काली मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना में शामिल होने मां काली के भक्त पहुंचेंगे। ऐसी मान्यता है कि अमावस्या की काली रात में मां काली विचरण करने निकलती है और उनकी आराधना में रत भक्तों की मनोकामना पूरी... आगे पढ़े

व्यापार और आय वृद्धि के लिए दीपावली पर किए जाने वाले कुछ उपाय, आजमाकर देखें

Updated on 4 November, 2018, 7:00
दीपावली का त्योहार परिवार के साथ खुशी से मनाया जाता है और लक्ष्मी माता की पूजा की जाती है। धनतेरस से दीपावली का त्योहार शुरू होता है और भाई दूज तक चलता है। यह त्योहार परिवार के साथ मनाए जाने वाले हिंदू धर्म में सबसे बड़े त्योहार हैं लेकिन अगर व्यापार... आगे पढ़े

धनतेरस पर भूलकर भी न खरीदें ये चीजें, जानें क्या खरीदना रहेगा शुभ

Updated on 31 October, 2018, 7:00
दीपावाली के अवसर पर पंचोत्सव मानाने की परंपरा है। इसमें पांच दिन तक एक के बाद एक पर्व मनाये जाते हैं। इन पर्वों में सबसे पहला नाम धनतेरस का आता है, उसके बाद नरक चतुर्दशी, दीपावली, गोवेर्धन पूजा और अंत में भैया दूज मनाया जाता है। माना जाता है देवी... आगे पढ़े

Ahoi Ashtami 2018: जानें कब है अहोई अष्टमी, शुभ मुहूर्त, कथा और पूजन विधि

Updated on 31 October, 2018, 6:30
कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि पर अहोई अष्टमी पर्व मनाया जा रहा है। इस बार यह तिथि 31 अक्टूबर दिन शनिवार को है। शास्त्रों के अनुसार, अहोई अष्टमी व्रत उदय कालिक एवं प्रदोष व्यापिनी अष्टमी को करने का विधान है। दरअसल अहोई अष्टमी पर्व और व्रत का संबंध... आगे पढ़े

Karva Chauth Essentials: ये हैं करवा चौथ व्रत के लिए जरूरी चीजें, इनके बिना अधूरी है पूजा

Updated on 27 October, 2018, 7:10
करवा चौथ का व्रत सौभाग्य और पति-पत्नी के बीच प्रेम का त्योहार है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत करती हैं। बदलते वक्त के साथ पति भी अपनी पत्नी का साथ निभाने के लिए व्रत करने लगे हैं। अगर आप दोनों पति-पत्नी ने भी साथ में... आगे पढ़े

Karva Chauth Puja Alone: अकेली हैं इस बार तो ऐसे करें करवा चौथ की पूजा

Updated on 27 October, 2018, 6:45
करवा चौथ के त्‍योहार का हर महिला को साल भर बेसब्री से इंतजार रहता है। इस दिन के लिए महिलाएं काफी समय पहले से ही तैयारी शुरू कर देती हैं। करवा चौथ पर सज संवरकर महिलाएं समूह में एकत्र होती हैं और फिर पूजा करती हैं। मगर कुछ कामकाजी महिलाएं या... आगे पढ़े

OH! तो लाइफ में Friendship इसलिए है जरूरी

Updated on 26 October, 2018, 6:45
एक बार की बात है। एक राजा ने राजकुमार को एक ऋषि के आश्रम में शिक्षा के लिए भेजा। ऋषि ने आश्रम में राजकुमार के लिए प्रबंध किया और उसकी शिक्षा प्रारम्भ हो गई। एक दिन ऋषि ने राजकुमार से पूछा कि तुम क्या बनना चाहते हो। इस पर ही... आगे पढ़े

कार्तिक मास में भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो...

Updated on 26 October, 2018, 6:30
हिंदू धर्म के ग्रथों में कार्तिक मास को बहुत खास महीना बताया जाता है। इस वर्ष का कार्तिक मास 24 अक्टूबर से शुरू होकर 21 नवंबर तक चलेगा क्योंकि इस माह को लेकर कई मान्यताएं प्रचलित है। इसलिए इस महीने में कई एेसे काम हैं जिन्हें करना हिंदू धर्म के... आगे पढ़े

कार्तिक मास में तुलसी क्यों है खास

Updated on 23 October, 2018, 7:30
हिंदू पंचांग के अनुसार हर महीने की अलग-अलग महिमा है। शास्त्रों में चातुर्मास में आने वाले कार्तिक मास को धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष देने वाला माना गया है। तुला राशि पर सूर्यनारायण के आते ही कार्तिक मास प्रारंभ हो जाता है। इस मास में तुलसी पूजा का बहुत महत्व... आगे पढ़े

कौन था गांधारी के कुल का हत्यारा

Updated on 23 October, 2018, 6:45
धृतराष्ट्र महाराज विचित्रवीर्य की पहली पत्नी अंबिका के पुत्र और महाभारत के प्रमुख पात्रों में से एक थे। कहा जाता है कि इनका जन्म महर्षि वेद व्यास के वरदान स्वरूप हुआ था। हस्तिनापुर के इस नेत्रहीन महाराज के सौ पुत्र और एक पुत्री थी। उनकी पत्नी का नाम गांधारी था।... आगे पढ़े

देवी-देवताओं को भी नहीं पता यह ज्ञान, नचिकेता ने ऐसे जाना

Updated on 22 October, 2018, 7:00
कठोपनिषद में नचिकेता की कहानी आती है, जो एक पांच साल का बालक था। उसके पिता ने एक यज्ञ किया, जिसमें उन्होंने कहा- मैं अपना सब कुछ दान कर दूंगा । लेकिन बाद में वो बीमार गायें दान करने लगे। नचिकेता को यह अच्छा नहीं लगा कि बीमार व बूढी गाय... आगे पढ़े

क्यों कृष्ण को प्रिय है कार्तिक मास

Updated on 22 October, 2018, 6:40
विभिन्न शास्त्रों और पुराणों आदि में हर दिवस व मास को मनाए जाने वाले पर्व, उत्सव, व्रत आयोजनों आदि का उल्लेख उनके फलादि के साथ किया गया है। हिंदू धर्म के अनुसार साल के सभी बारह महीनों को किसी-न-किसी देवता के साथ संयुक्त कर उसके महत्व का उल्लेख उनमें किया... आगे पढ़े

विजयदशमी पर शस्त्र पूजा का महत्व 

Updated on 19 October, 2018, 8:00
हमारे देश में विजयादशमी के शुभ अवसर पर देवी पूजा के साथ-साथ शस्त्र पूजा की परंपरा भी कायम हैं। यह शस्त्र पूजा दशहरा के दिन ही क्यों की जाती है, इस संबंध में अनेक कथाएँ प्रचलित हैं। एक कथा के अनुसार राम ने रावण पर विजय प्राप्त करने हेतु नवरात्र... आगे पढ़े

इस तरह अपनी जीत के साथ मनाएं दशहरा

Updated on 19 October, 2018, 7:40
देवी जया और विजया का पर्व विजयादशमी यानी दशहरा, दरअसल नवरात्रि के नौ पावन दिनों के पश्चात खुद पर विजय पाकर स्वयं के पुनर्परिचय का महाकाल है। नवरात्रि का पर्व किसी पंडाल में स्थापित देवी की कृपा प्राप्त करने का नहीं, बल्कि अपने ही भीतर के सप्तचक्रों पर विराजित अपनी... आगे पढ़े

इसलिए मनाया जाता है दशहरा का त्योहार, यह है विजयदशमी की कथा

Updated on 19 October, 2018, 7:00
हमारे देश में दशहरा का त्योहार बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। इस पर्व को विजय दशमी भी कहा जाता है। शारदीय नवरात्रि के समय नौ दिन मां दुर्गा का पूजन करने के बाद दसवें दिन रावण का पुतला बनाकर उसका दहन किया जाता है। इसका कारण और कथा त्रेतायुग... आगे पढ़े

द्रोपदी के स्वयंवर में अर्जुन की जीत के पीछे था कृष्ण का हाथ, पढ़ें रोचक कहानी

Updated on 18 October, 2018, 12:45
द्रौपदी के स्वयंवर में जाते वक्त 'श्री कृष्ण' ने अर्जुन को समझाते हुए कहते हैं कि हे पार्थ तराजू पर पैर संभलकर रखना। संतुलन बराबर रखना, लक्ष्य मछली की आंख पर ही केंद्रित हो, इसका खास ख्याल रखना। अर्जुन ने कहा कि हे प्रभु सब कुछ अगर मुझे ही करना... आगे पढ़े

Durga puja havan: नवमी पूजन और हवन मंत्रः घर पर ऐसे करें नवरात्र में नवमी पूजन और हवन

Updated on 18 October, 2018, 7:00
नवरात्र की नवमी तिथि यानी आश्विन शुक्ल नवमी तिथि के दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। माता सिद्धिदात्री सभी सिद्धियों को प्रदान करने वाली माता हैं इनमें माता के सभी रूप सामहित होते हैं जो नवरात्र के नौ दिनों की पूजा का फल अपने भक्तों को प्रदान करती... आगे पढ़े

नवरात्रि स्पेशल: राम और रावण की कौन सी बातें हैं एक जैसी

Updated on 17 October, 2018, 7:00
नवरात्रों में देवी दुर्गा के नौ विभिन्न रूपों की पूजा-अर्चना की जाती है। हिंदू धर्म के अनुसार नवरात्र एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है 'नौ रातें'। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, आदिशक्ति के नौ रूपों की पूजा की जाती है। इस पर्व से जुड़ी कथा... आगे पढ़े

क्यों देवी दुर्गा को कहा जा जाता है महिषासुर मर्दिनी

Updated on 15 October, 2018, 7:40
नवरात्र शुरू होते ही कहीं जयकारों की गूंज तो, कहीं दुर्गा स्तुति का पाठ तो कहीं मां के भजन सुनने को मिलते हैं। इस पर्व को भारत के कोने-कोने में बहुत धूम-धाम से मनाया जाता है। यह पावन त्योहार आदिशक्ति मां दुर्गा को समर्पित है। नवरात्र के पूरे नौ दिन... आगे पढ़े

वैष्णो देवी श्रद्धालुओं के लिए अब निशुल्क पांच लाख का दुर्घटना बीमा

Updated on 14 October, 2018, 11:15
जम्मू। श्री माता वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क समूह दुर्घटना बीमा की राशि तीन लाख से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी गई है। इसका फैसला शनिवार को श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की 63 वीं बैठक में लिया गया, जिसकी अध्यक्षता जम्मू-कश्मीर... आगे पढ़े